Latest love shayari

जब तक दिल न बिकता था तो कोई दिल को पूछता न था।

मगर आज तुमने अपने दिल की ज्यादा कीमत लगा दी।॥

मेरे सीने में न सही तुम्हारे सीने में सही।

रहे सुलगती कहीं भी आग सुलगनी चबाहिए।

चाहे मेरे दिल में पले न पले मुहब्बत।

पर तुम्हारे दिल में पलनी चाहिए।

प्यार करने वालों कभी आहें नहीं भरना।

मुहब्यत में जान भी जाये तो गम नहीं करना ।

यादों के चिराग जलाये जाते हैं दोस्तों को याद रखने के लिये।

लवों पर दुआ रहती है दोस्त को गम से आवाद रखने के लिये॥

चमन है काँटों का जरा सम्भलकर चलना।

ये दिल है गरीब का जरा समझकर रखना ॥

दिल का तुमको खत में फँसाना लिखेंगे।

हमें तुमसे मुहब्बत है यही दिल दिवाना लिखेंगे ॥