Wishav Ke Pthar

wishav ke pthar in hindi

पठार

धरातल का विशिष्ट स्थल रूप जो अपने आस-पास की जमीन से पर्याप्त ऊँचा है और जिसका ऊपरी भाग चौड़ा और सपाट होता है, पठार कहलाता है।

भूमि पर मिलने वाले द्वितीय श्रेणी के स्थल रुपों में पठार अत्यधिक महत्वपूर्ण हैं और सम्पूर्ण धरातल के 26% भाग पर इनका विस्तार पाया जाता हैं। सागर तल से इनकी ऊचाई 600 मीटर तक होती हैं

पठारों की उत्पति के कारण -

1.भू-गर्भिक हलचलें, जिनके कारण कोई समतल भू-भाग अपने समीप वाले धरातल से ऊपर उठ जाता हैं।

2.एसी हलचलें जिनके कारण समीपवर्ती भू-भाग नीचे बैठ जाते हैं तथा कई समतल भाग ऊपर रह read more....