Love Shayari and Dard Shayari collection

Share our latest love shayari and dard bhari shayri woth your friends.

Below you can download or find latest for boyfriends and girlfriend that you can share on social media platforms.

love hindi shayari

कहतें हैं कि मोहबत एक बार होती है,

पर मैं जब जब उसे देखता हूँ,

मुझे हर बार होती है॥

Woh Rakh Le Kahin Apne Paas Humein Qaid Karke,

Kaash Ke Humse Koi Aisa Gunaah Ho Jaaye.

वो रख ले कहीं अपने पास हमें कैद करके,

काश कि हमसे कोई ऐसा गुनाह हो जाये।

यकीन नहीं तुझे अगर तो आज़मा के देख ले,

एक बार तू जरा मुस्कुरा के देख ले,

जो ना सोचा होगा तूने वो मिलेगा तुझको भी,

एक बार आपने कदमबढ़ा के देख ले

Mohabbat Naam Hai Jiska Wo Aisi Qaid Hai Yaaro,

Ki Umrein Beet Jaati Hain Sazaa Puri Nahin Hoti.

मोहब्बत नाम है जिसका वो ऐसी क़ैद है यारों,

कि उम्रें बीत जाती हैं सजा पूरी नहीं होती।

And here are new as well that you can shre with your sad friend.

dard shayari

Tapakti Hai Nigaahon Se Barasti Hai Adaaon Se,

Mohabbat Kaun Kehta Hai Ke Pehchaani Nahi Jati.

टपकती है निगाहों से बरसती है अदाओं से,

मोहब्बत कौन कहता है कि पहचानी नहीं जाती।

RuBaRu Milne Ka Mauka Milta Nahin Hai Roj,

Isliye Lafzon Se Tum Ko Chhu Liya Maine.

रूबरू मिलने का मौका मिलता नहीं है रोज,

इसलिए लफ्ज़ों से तुमको छू लिया मैंने।

Hindi Love Shayari, Lafzon Se Chhu Liya

Heart Touching Love Shayari

इक झलक जो मुझे आज तेरी मिल गयी,

मुझे फिर से आज जीने की वजह मिल गयी

Dil Mein Aahat Si Hui Rooh Mein Dastak Goonji,

Kis Ki Khushboo Yeh Mujhe Mere SirHane Aayi.

दिल में आहट सी हुई रूह में दस्तक गूँजी,

किस की खुशबू ये मुझे मेरे सिरहाने आई।

किसी को प्यार इतना देना की हद न रहे

पर ऐतबार भी इतना करना की शक न रहे

वफ़ा इतना करना की बेवफाई न रहे

और दुवा इतना करना की जुदाई न रहे

Jannat-e-Ishq Mein Har Baat Ajeeb Hoti Hai,

KisiKo Aashiqi Toh KisiKo Shayari Naseeb Hoti Hai.

जन्नत-ए-इश्क में हर बात अजीब होती है,

किसी को आशिकी तो किसी को शायरी नसीब होती है।

Bahut Nayab Hote Hain Jinhe Hum Apna Kahte Hain,

Chalo Tumko Izaajat Hai Ki Tum Anmol Ho Jao.

बहुत नायाब होते हैं जिन्हें हम अपना कहते हैं,

चलो तुमको इज़ाजत है कि तुम अनमोल हो जाओ।

मुझे तुमसे मोहब्बत थी मैं अब इकरार करता हूँ,

बहुत पहले जो करना था वो अब इज़हार करता हूँ

Roj Saahil Se Samandar Ka Najara Na Karo,

Apni Soorat Ko Shabo-Roz Nihara Na Karo,

Aao Dekho Meri Najron Mein Utar Kar Khud Ko,

Aayina Hoon Main Tera Mujhse Kinara Na Karo.

रोज साहिल से समंदर का नजारा न करो,

अपनी सूरत को शबो-रोज निहारा न करो,

आओ देखो मेरी नजरों में उतर कर खुद को,

आइना हूँ मैं तेरा मुझसे किनारा न करो।

Inkaar Jaisi Lazzat Ikraar Mein Kahan,

Barhta Raha Ishq Ghalib Uski Nahi-Nahi Se.

इन्कार जैसी लज्जत इक़रार में कहाँ,

बढ़ता रहा इश्क ग़ालिब उसकी नहीं-नहीं से।

Dil Mein Na Ho Jurrat Toh Mohabbat Nahi Milti,

Khairaat Mein Itni Badi Daulat Nahi Milti.

दिल में ना हो जुर्रत तो मोहब्बत नहीं मिलती

खैरात में इतनी बड़ी दौलत नहीं मिलती।

Kisi Se Pyar Karo Aur Tajurba Kar Lo,

Ye Aisa Rog Hai Jismein Dawa Nahi Lagti.

किसी से प्यार करो और तजुर्बा कर लो,

ये रोग ऐसा है जिसमें दवा नहीं लगती।

Ijhaar-e-Mohabbat Pe Ajab Haal Hai Unka,

Aankhein Toh Raza-mand Hain Lab Soch Rahein Hain.

इजहार-ए-मोहब्बत पे अजब हाल है उनका,

आँखें तो रज़ामंद हैं लब सोच रहे हैं।